भारत सरकार
वित्त मंत्रालय
व्यय विभाग
मुख्य सलाहकार लागत
अंग्रेजी के लिए
मुख्य सलाहकार लागत की वेबसाइट पर आपका स्वागत है
प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में दिए गए सभी दान, आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80 जी के तहत कर योग्य आय से 100% कटौती के लिए अधिसूचित हैं।
Skip Navigation Links
होम
हमारे बारे में
सिंहाअवलोकन
सी.ए.सी की विवरणिका
सूचना का अधिकार
दीर्घा
महत्वपूर्ण लिंक
सम्पर्क करें
Skip Navigation Links
कार्य आबंटन
प्रतिभागी कार्यालयों की सूची
प्रतिभागी कार्यालयों में भारतीय लागत लेखा अधिकारियों की भूमिका
मामले भेजने की प्रक्रिया
शुरु किए गए प्रमुख अध्ययन
प्रश्नावली/वार्षिक रिपोर्ट
स्थानांतरण और तैनाती
अधिकारियों की निर्देशिका
प्रशिक्षण
वार्षिक संपत्ति विवरण
 
कार्य का आबंटन
"लागत लेखा के मामलों पर मंत्रालयों और सरकारी उपक्रमों को परामर्श देना और उनकी ओर से लागत जांच कार्य करना"
 


  मुख्य सलाहकार (लागत) के कार्यालय के कार्य
  • केन्द्र सरकार के सभी मंत्रालयों/विभागों/संगठनों को मूल्य/लागत से जुड़े जटिल मामलों का समाधान करने में, विभिन्न सेवाओं/उत्पादों के उचित मूल्य के निर्धारण में सहायता करना और लागत संबंधी मामलों में विभिन्न मंत्रालयों/विभागों को परामर्श देना।

  • सरकारी विभागों/सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और आपूर्तिकर्ताओं के बीच खरीद अनुबंधों के परिणामस्वरूप उत्पन्न दावों की जांच/सत्यापन।

  • सरकार को आपूर्त उत्पादों और सेवाओं का मूल्य निर्धारण ताकि सरकारी विभाग आपूर्तिकर्ता संगठनों से मोलभाव कर सकें।

  • लागत/उचित मूल्यों के निर्धारण के लिए इकाई विशिष्ट और उद्योग स्तरीय अध्ययन करना और उत्पादों के उचित मूल्यों/दरों और सेवाओं हेतु प्रयोक्ता प्रभारों की सिफारिशें करना, इन प्रभारों में संशोधन करना और प्रभारित मूल्यों, शुल्क संरचना आदि का औचित्य भी निर्धारित करना।

  • लागत/वित्तीय और मूल्य निर्धारण के संबंध में सरकार/भिन्न-भिन्न विभागों द्वारा गठित अंतर-मंत्रालयी समिति के अध्यक्ष/सदस्य के रूप में कार्य करना।

  • औद्योगिक उपक्रमों की लागत और निष्पादन लेखापरीक्षा करना।

  • विनिर्माण इकाईयों के मूल्य वृद्धि दावों की समवर्ती लेखापरीक्षा।

  • सब्सिडी का निर्धारण और दावों का सत्यापन।

  • विभागीय उपक्रमों/स्वायत्त निकायों के लिए लागत लेखांकन प्रणाली।

  • प्रमुख परियोजनाओं की समय अवधि और लागत बढ़ने की जवाबदेही निर्धारित करने के लिए स्थायी समितियों के सदस्य।

  • मूल्य निर्धारण से संबंधित विवादों को सुलझाने के लिए मध्यस्थता करना।

  • केन्द्रीय उत्पाद के प्रयोजनार्थ छूट दर के निर्धारण से संबंधित मामलों पर परामर्श देना।

 
हम भारत सरकार के मंत्रालयों और विभागों के लागत सलाहकारों के रूप में कार्य करते हैं